Desi ghee, aate aur dry fruits ke ladoo

इन्तेक़ाम

जो मदहोश ही ना कर सके वो जाम क्या है,जो बिना पिये ही गुजर जाए वो…

हाल-ए-दिल

रातें बेचकर चंद ख़्वाब खरीद लाया हूं,आज ज़िंदगी का हिसाब कर आया हूं,थक गया था लोगों…

ज़िन्दगी:- धुआं-धुआं सी है ज़िन्दगी, कहीं आग़ भी नहीं है

धुआं-धुआं सी है ज़िन्दगी, कहीं आग़ भी नहीं है,दामन-ए-दिल-ओ-ज़ेहन में कोई दाग़ भी नहीं है,जुगनुओं की…

याद:- एक उम्र गुजरने के बाद आज वो याद आया

एक उम्र गुजरने के बाद आज वो याद आया,सहरा बनी आंखों से मेरी फ़िर सैलाब आया,खो…